बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, June 29, 2017

अनिच्छुक और प्रतिरोधी


   बहुत वर्ष पहले, जल में सुरक्षित रहने के पाठ सीखते समय हमें सिखाया गया कि किसी डूबते हुए व्यक्ति को, जो बचाए जाने का प्रतिरोध कर रहा है, कैसे बचाना है। हमारे प्रशिक्षक ने हमें बताया, "उस व्यक्ति के पीछे से उसके निकट आएं, और अपना एक हाथ उसकी छाती और छटपटाती हुई बाहों पर लपेटकर, सुरक्षित स्थान की ओर तैरना आरंभ कर दें।" जब हम डर के मारे घबराए हुए होते हैं तो ऐसे में हमारी सोचने और सही निर्णय करने की क्षमता अवरुद्ध हो जाती है; तब हमें उस परिस्थिति से निकालने के लिए कुछ हद तक विवश करना पड़ता है।

   परमेश्वर के वचन बाइबल में हम एक घटना पढ़ते हैं, जब दो स्वर्गदूत लूत और उसके परिवार को सदोम तथा अमोरा के विनाश से बचाने के लिए परमेश्वर की ओर से आए (उतपत्ति 19:12-13) तो उन्हें लूत के परिवार के प्रतिरोध का सामना करना पड़ा। लूत के दामादों ने उनकी इस चेतावनी को ठट्ठों में उड़ा दिया (पद 14)। जब उन स्वर्गदूतों ने लूत से कहा कि वे लोग विलंब न करें और उस स्थान से जल्दी से निकल जाएं, तो उसने संकोच किया (पद 15)। तब, "...उन पुरूषों ने उसका और उसकी पत्नी, और दोनों बेटियों का हाथ पकड़ लिया; क्योंकि यहोवा की दया उस पर थी: और उसको निकाल कर नगर के बाहर कर दिया" (पद 16)।

   जब हम मसीही विश्वास की अपनी यात्रा पर विचार करते हैं, तो हम देखने पाते हैं कि परमेश्वर अनेकों बार उसके प्रति हमारे प्रतिरोध और हिचकिचाहट के बावजूद, कैसे हमेशा हमारा विश्वासयोग्य सहायक बना रहा है। जब हम ऐसे लोगों को देखें जो आत्मिक हताशा और अनिश्चितता में होकर भयभीत हैं, परिस्थिति से निकलने के लिए इधर-उधर हाथ-पाँव मार रहे हैं, तो हम परमेश्वर की बुद्धिमता द्वारा उन्हें प्रभु परमेश्वर के प्रेम के बारे में बता और समझा सकें - और यही प्रत्येक उस व्यक्ति के साथ भी कर सकें, जो प्रभु परमेश्वर के द्वारा बचाए जाने के लिए अनिच्छुक है, उसका प्रतिरोध कर रहा है। - डेविड मैक्कैसलैंड


परमेश्वर की दया हमारे प्रतिरोध पर जयवंत रहती है।

यहोवा दयालु और अनुग्रहकरी, विलम्ब से कोप करने वाला और अति करूणामय है। वह सर्वदा वादविवाद करता न रहेगा, न उसका क्रोध सदा के लिये भड़का रहेगा। उसने हमारे पापों के अनुसार हम से व्यवहार नहीं किया, और न हमारे अधर्म के कामों के अनुसार हम को बदला दिया है। - भजन 103:8-10

बाइबल पाठ: उत्पत्ति 19:12-25
Genesis 19:12 फिर उन पाहुनों ने लूत से पूछा, यहां तेरे और कौन कौन हैं? दामाद, बेटे, बेटियां, वा नगर में तेरा जो कोई हो, उन सभों को ले कर इस स्थान से निकल जा। 
Genesis 19:13 क्योंकि हम यह स्थान नाश करने पर हैं, इसलिये कि उसकी चिल्लाहट यहोवा के सम्मुख बढ़ गई है; और यहोवा ने हमें इसका सत्यनाश करने के लिये भेज दिया है। 
Genesis 19:14 तब लूत ने निकल कर अपने दामादों को, जिनके साथ उसकी बेटियों की सगाई हो गई थी, समझा के कहा, उठो, इस स्थान से निकल चलो: क्योंकि यहोवा इस नगर को नाश किया चाहता है। पर वह अपने दामादों की दृष्टि में ठट्ठा करने हारा सा जान पड़ा। 
Genesis 19:15 जब पौ फटने लगी, तब दूतों ने लूत से फुर्ती कराई और कहा, कि उठ, अपनी पत्नी और दोनो बेटियों को जो यहां हैं ले जा: नहीं तो तू भी इस नगर के अधर्म में भस्म हो जाएगा। 
Genesis 19:16 पर वह विलम्ब करता रहा, इस से उन पुरूषों ने उसका और उसकी पत्नी, और दोनों बेटियों का हाथ पकड़ लिया; क्योंकि यहोवा की दया उस पर थी: और उसको निकाल कर नगर के बाहर कर दिया। 
Genesis 19:17 और ऐसा हुआ कि जब उन्होंने उन को बाहर निकाला, तब उसने कहा अपना प्राण ले कर भाग जा; पीछे की और न ताकना, और तराई भर में न ठहरना; उस पहाड़ पर भाग जाना, नहीं तो तू भी भस्म हो जाएगा। 
Genesis 19:18 लूत ने उन से कहा, हे प्रभु, ऐसा न कर: 
Genesis 19:19 देख, तेरे दास पर तेरी अनुग्रह की दृष्टि हुई है, और तू ने इस में बड़ी कृपा दिखाई, कि मेरे प्राण को बचाया है; पर मैं पहाड़ पर भाग नहीं सकता, कहीं ऐसा न हो, कि कोई विपत्ति मुझ पर आ पड़े, और मैं मर जाऊं: 
Genesis 19:20 देख, वह नगर ऐसा निकट है कि मैं वहां भाग सकता हूं, और वह छोटा भी है: मुझे वहीं भाग जाने दे, क्या वह छोटा नहीं है? और मेरा प्राण बच जाएगा। 
Genesis 19:21 उसने उस से कहा, देख, मैं ने इस विषय में भी तेरी बिनती अंगीकार की है, कि जिस नगर की चर्चा तू ने की है, उसको मैं नाश न करूंगा। 
Genesis 19:22 फुर्ती से वहां भाग जा; क्योंकि जब तक तू वहां न पहुचे तब तक मैं कुछ न कर सकूंगा। इसी कारण उस नगर का नाम सोअर पड़ा। 
Genesis 19:23 लूत के सोअर के निकट पहुंचते ही सूर्य पृथ्वी पर उदय हुआ। 
Genesis 19:24 तब यहोवा ने अपनी ओर से सदोम और अमोरा पर आकाश से गन्धक और आग बरसाई; 
Genesis 19:25 और उन नगरों को और सम्पूर्ण तराई को, और नगरों को और उस सम्पूर्ण तराई को, और नगरों के सब निवासियों, भूमि की सारी उपज समेत नाश कर दिया।

एक साल में बाइबल: 
  • अय्युब 14-16
  • प्रेरितों 9:22-43